Mother Mary Pray – माँ मरियाम से प्रार्थना – प्रणाम मरिया

Mother Mary – प्रणाम मरिया, कुँवारी मरियम कि याद कर प्रार्थना, कुँवारी मरियम की स्तुति-विनती, कुँवारी मरियम से प्रार्थना, जय हो पवित्र रानी, तेरी शरण, दूत संवाद, प्रणाम मरिया, स्वर्ग की रानी,माँ मरियाम से प्रार्थना.

प्रणाम मरिया

प्रणाम मरिया, कृपापूर्ण,
प्रभु तेरे साथ है।
धन्य तू स्त्रियों में,
और धन्य तेरे गर्भ का फल यीशु।

हे संत मरिया,
परमेश्वर की माँ,
प्रार्थना कर हम पापियों के लिए,
अब और हमारे मरने के समय।

आमीन।

शाम की विनती – Jesus Evening Pray


कुँवारी मरियम से प्रार्थना

हे अत्यन्त धर्मिष्ठ कुँवारी मरियम ! स्मरण कर कि आज तक यह कभी सुनने
में नहीं आया कि तेरा कोई भी शरणागत तुझ से सहायता माँगकर तथा परमेश्वर
के पास तेरी प्रार्थना की मदद चाहकर तुझ से अनसुना छूट गया हो। हे
कुँवारियों में श्रेष्ठ कुँवारी ! हे मेरी माता ! इसी विश्वास को लेकर
मैं तेरी शरण में दौड़ा आया हूँ। मैं शोकपूर्ण पापी तेरे सम्मुख उपस्थित
हूँ। हे परमेश्वर की माता ! मेरी प्रार्थना अनसुनी न करना, किन्तु कृपा
करके उस पर ध्यान देना।

आमीन।

तेरी शरण

Mother Mary Pray - माँ मरियाम से प्रार्थना - प्रणाम मरिया

तेरी शरण में हम दौड़ आते हैं,
हे ईश्वर की पवित्र माँ।
हम अपनी जरूरत में जो विनती करते हैं,
उसे अस्वीकार न कर,
लेकिन, हे प्रतापी और धन्य
कुँवारी, हमें सदा सब जोखिमों से बचा।

आमीन।

जय हो पवित्र रानी

जय हो, पवित्र रानी,
दया की मां, जय हो, हमारे जीवन,
हमारी मिठास और हमारी आशा है।
करना तुमको हम रो,
ईव के गरीब बच्चों को भगा दिया;
को तुमको क्या हम हमारे आह भेज,
शोक और आँसू की इस घाटी में रो।

तो जाओ, सबसे अनुग्रह वकील,
हमारी ओर दया के तेरा आँखें,
और यह हमारी निर्वासन हमें पर्यत दिखाने के लिए, तुम्हारा पेट,
यीशु के आशीर्वाद फल के बाद।
हे कृपालु, हे प्यार, हे मीठी कुवांरी मरिया।

आमीन।

कुँवारी मरियम कि याद कर प्रार्थना

याद कर, हे परम दयालु कुँवारी मरियम,
कि यह कभी सुनने में नहीं आया कि
कोई तेरी मदद माँगने और
तेरी विनतियों की सहायता खोजने तेरे पास आया और
तुझसे असहाय छोड़ा गया हो।
हे कुँवारियों की कुँवारी, हे मेरी माँ, इसी
आसरे से मैं तेरे पास दौड़ आता हूँ,
और कराहते हुए पापी के रूप में तेरे
सामने खड़ा हूँ।
हे खीस्त की माँ, मेरी विनती अस्वीकार मत कर, पर दया से
उसको सुन और पूरा कर।

आमीन।

स्वर्ग की रानी

(पवित्र शनिवार से पेन्तेकोस्त तक)

हे स्वर्ग की रानी, आनन्द कर। अल्लेलूया ।

जिनको तूने पैदा किया। अल्लेलूया ।

वह अपने कथनानुसार जी उठे। अल्लेलूया ।

ईश्वर से हमारे लिये प्रार्थना कर। अल्लेलूया ।

आनन्द मना और प्रसन्न हो, हे कुँवारी मरियम। अल्लेलूया ।

प्रभु सचमुच जी उठे। अल्लेलूया ।

हम प्रार्थना करें :

हे ईश्वर, तूने अपने पुत्र हमारे प्रभु यीशु खीस्त के पुनरूत्थान द्वारा
संसार को आनन्द दिया है। हमारी यह प्रार्थना सुन और ऐसा कर कि हम उनकी
माँ कुँवारी मरियम के द्वारा, अनन्त जीवन का आनन्द प्राप्त कर सकें।

आमीन।

दूत संवाद

प्रभु के दूत ने मरियम को सन्देश दिया।

और वह पवित्र आत्मा से गर्भवती हुई।

प्रणाम मरियम………

देख, मैं प्रभु की दासी हूँ।

तेरा कथन मुझमें पूरा हो।

प्रणाम मरियम………..

और शब्द देह बना।

और हमारे बीच में रहा।

प्रणाम मरियम……….

हे ईश्वर की पवित्र माँ, हमारे लिए प्रार्थना कर।

कि हम खीस्त की प्रतिज्ञाओं के योग्य बन जाएं।

हम प्रार्थना करें :

हे प्रभु, हमने स्वर्गदूत के संदेश द्वारा तेरे पुत्र यीशु खीस्त का
देहधारण जान लिया। हमारी प्रार्थना सुन ले – अपनी कृपा हमारी आत्माओं को
प्रदान कर, कि हम उसी खीस्त के दु:ख और क्रूस के द्वारा पुनरूत्थान की
महिमा तक पहुँच सकें। उन्हीं हमारे प्रभु यीशु खीस्त के द्वारा।

आमीन।

Mother Mary Pray - माँ मरियाम से प्रार्थना - प्रणाम मरिया

कुँवारी मरियम की स्तुति-विनती

प्रभु दया कर                                      ख्रीस्त दया कर ।

प्रभु, दया कर ।      }                   खीस्त हमारी विनती पूरी कर।
खीस्त, हमारी सुन ।}
स्वर्ग के पिता परमेश्वर,                                   हम पर दया कर
पुत्र परमेश्वर, दुनिया के मुक्तिदाता,                           “
पवित्र आत्मा परमेश्वर,                                              “
पवित्र त्रित्व एक ही परमेश्वर,                                     “
संत मरियम,                                  हमारे लिए प्रार्थना कीजिए ।
ईश्वर की पवित्र माँ,                                           “
कुँवारियों की पवित्र कुँवारी,                              “
खीस्त की माता,                                               “
ईश्वरीय कृपा की माता,                                     “
अति निर्मल माता,                                            “
अति शुद्ध माता,                                              “
कुँवारी माता,                                                  “
पवित्र माता,                                                   “
निष्कलंक माता,                                              “
प्रिय माता,                                                     “
प्रशंसनीय माता,                                              “
सुसम्मति की माता,                                          “
सृष्टिकर्त्ता की माता,                                          “
मुक्तिदाता की माता,                                         “
अति सावधान कुँवारी,                                      “
आदरणीय कुँवारी,                                           “
स्तुतियोग्य कुँवारी,                                           “
शक्तिमती कुंवारी,                                            “
दयालु कुँवारी,                                                   “
धर्मनिष्ठ कुँवारी।                                                “
धार्मिकता का आदर्श,                                       “
प्रज्ञा का सिंहासन,                                             “
हमारे आनन्द का मूल,                                      “
पवित्र आत्मा का मंदिर,                                    “
आदरणीय पात्र,                                              “
भक्ति का उत्तम पात्र,                                        “
आध्यात्मिक गुलाब,                                         “
दाऊद का गढ़,                                            “
हस्तिदंत का गढ़,                                             “
सुवर्ण मंदिर,                                                   “
संधि की मंजूषा,                                          “
स्वर्ग का द्वार,                                              “
भोर का तारा,                                              “
रोगियों का स्वास्थ्य,                                      “
पापियों की शरण,                                        “
दु:खियों का दिलासा,                                    “
खीस्तीयों की सहायता,                                  “
स्वर्गदूतों की महारानी,                                   “
धर्मपुरखों की महारानी,                                 “
नबियों की महारानी,                                     “
प्रेरितों की महारानी,                                      “
शहीदों की महारानी,                                     “
धर्मवीरों की महारानी,                                   “
कुँवारियों की महारानी,                                  “
सब संतों की महारानी,                                   “
आदिपापरहित उत्पन्न महारानी,                       “
स्वर्ग में उद्गृहीत महारानी,                               “
अति पवित्र माला की महारानी,                           “
शांति की महारानी,                                           “

हे ईश्वर के मेमने, तू संसार के पाप हर लेता है।
प्रभु, हमें क्षमा कर ।

हे ईश्वर के मेमने, तू संसार के पाप हर लेता है ।
प्रभु, हमारी सुन ।

हे ईश्वर के मेमने, तू संसार के पाप हर लेता है ।
हम पर दया कर ।

हे ईश्वर की पवित्र माँ, हमारे लिए प्रार्थना कर ।
कि हम खीस्त की प्रतिज्ञाओं के योग्य बन जाएँ ।

हम प्रार्थना करें

हे प्रभु ईश्वर, कृपा करके अपने इन सेवकों को सदा तन-मन से
स्वस्थ रहने का आनन्द प्रदान कर, और नित्य कुँवारी मरियम की प्रार्थना द्वारा हमको इस लोक के दु:ख से मुक्त हो कर अनन्त सुख भोगने दे। ख्रीस्त  हमारे प्रभु के द्वारा । आमेन ।

सबेरे की विनती |Jesus Morning Pray| प्रभु की विनती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.